तुलसी और मरवे के पत्तों से पानी साफ करने का तरीका

दोस्तों आज जो मैं आपको जानकारी देने वाला हूं यह जानकारी आप सभी के लिए बहुत ही अधिक लाभदायक सिद्ध होगी। जैसा कि मैंने आपको पहले हवन की राख से पानी को ताकतवर और उसको गुणवान बनाने का तरीका बताया था वैसे ही तुलसी के पत्ते और मरवा के पत्तों से पानी को एकदम शुद्ध बनाया जा सकता है बल्कि ताकतवर बनाया जा सकता है।

तुलसी और मरवे के पत्तों से जो पानी शुद्ध किया गया है उस पानी को पीने से आपका शरीर स्वस्थ बन जाएगा आपका रक्त स्वच्छ बनेगा पेट ठीक रहेगा शरीर में दर्द नहीं होगा और यदि बुखार है तो वह भी खत्म हो जाएगा और आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाएगी। दोस्तों जो मैंने इसमें तुलसी प्रयोग की है वह श्यामा तुलसी है और इस तुलसी की आपको एक खासियत बताता हूं यदि किसी को चिकनगुनिया है और उसके बाद में उसका जोड़ों का दर्द ठीक नहीं हो रहा है यदि वह रोज श्यामा तुलसी का काढ़ा बनाकर पिए तो उसका वह दर्द ठीक हो जाता है इसी प्रकार बुखार को ठीक करने में श्यामा तुलसी का काढ़ा बहुत ही बहुत ही अधिक लाभदायक सिद्ध होता है।

आजकल लोग घरों में RO लगवाते हैं पानी को साफ करने के लिए लेकिन वह पानी की गुणवत्ता को बिल्कुल खराब कर देता है वह पानी को इतना खराब कर देता है कि आपका रक्त भी खराब होना शुरू हो जाता है और मनुष्य को अनेक प्रकार के रोग धीरे-धीरे खेलना शुरू कर देते हैं यदि RO को धीमा जहर कहा जाए तो कुछ गलत नहीं होगा आरो का पानी पीना हमारी सेहत के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं होता है।

यदि आप गूगल में RO के बारे में खोजें तो आप पाएंगे कि अनेकों देशों ने RO को अपने देश में बैन किया हुआ है उसके बिकने पर रोक लगाई हुई है। इसी से पता चलता है कि वहां की सरकारें कितनी ज्यादा सतर्क हैं अपनी जनता के स्वास्थ्य को लेकर। लेकिन भारत में रहने वाले लोगों का दुर्भाग्य है की संसार में जो कूड़ा किसी देश में नहीं बिकता तो वह कूड़ा इस भारत में बिकता है और यहां के जो नागरिक हैं वह इतने समझदार हैं कि उस कूड़े को महंगे महंगे दामों में खरीदते हैं और बीमार पड़ते हैं।

खैर छोड़िए दोस्तों क्योंकि ईश्वर ने हम मनुष्यों को वह बुद्धि दी है विचार करने के लिए सोचने समझने के लिए जो किसी और प्राणी के पास नहीं है यदि अब भी हम इस बुद्धि का इस्तेमाल ना करें तो हम मनुष्य पशुओं से भी निम्न कोटि के हो जाएंगे क्योंकि पशु भी इन मामलों में हमसे ज्यादा समझदार हैं वह प्रकृति के अनुसार अपना जीवन जीते हैं। हमारी तरह फ़ालतू का दिखावा नहीं करते।

तुलसी ओर मरवा से पानी को साफ करने का तरीका

ये को तस्वीर में आप पानी की केन देख रहे हो इसमें 50 पत्ते श्यामा तुलसी या को भी तुलसी आपके पास हो ओर 50 पत्ते मरवा के धो कर डाल दीजिए ओर याद आपके पास हवन कि राख है तो 2 चम्मच हवन की राख भी डाल दो अब 24 घंटे बाद आप का पानी साफ हो जाएगा एक दम स्वच्छ ओर निर्मल हो जाएगा और ये पानी ताकतवर हो जाएगा तो आपके अनेकों रोगों को दूर करेगा।

दोस्तों मैंने यह प्रयोग पहले एक गिलास में करके देखा था उस गिलास में मैंने पांच पत्ते श्यामा तुलसी के पांच पत्ते मरवा के डाले थे और 20 घंटे बाद उस गिलास का पानी एकदम पारदर्शी स्वच्छ निर्मल हो गया था और उसमें तुलसी की भी खुशबू आ रही थी उस पानी को पीकर जो मुझे मजा आया ऐसा पानी मैंने आज तक नहीं पिया था आप चाहे तो पहले यह वाला छोटा सा प्रयोग करके देख सकते हो इसमें मैंने कोई भी नहीं डाली थी सिर्फ श्यामा तुलसी के पत्ते पत्ते डाली थे बस।

आप नीचे श्यामा तुलसी का पौधा और मरवा का पौधा देख सकते हैं जो कि मैंने अपनी छत पर से उसकी फोटो खींचकर यहां डाली है।

श्यामा तुलसी
मरवा का पोधा

3 thoughts on “तुलसी और मरवे के पत्तों से पानी साफ करने का तरीका”

Leave a comment