ऊर्ध्वरेता प्राणायाम वीर्य को अपने वश में करना सीखिए

ऊर्ध्वरेता बनने की विधि से पूर्व वीर्य के विषय में कुछ जानकारी प्राप्त करना आवश्यक है। वीर्य प्राणी मात्र का जीवन तत्व है।इस वीर्य रूपी बीज के बिना संसार के किसी भी पदार्थ की उत्पत्ति रक्षा और जीवन नहीं रह सकता। इसको शास्त्रों में बीजतत्व, वीरतत्व, ओजस, बलतेज, शुक्र, पवित्रता, रेतस, कान्ति, बिंदु, आदि नामों … Read more ऊर्ध्वरेता प्राणायाम वीर्य को अपने वश में करना सीखिए