ध्यान क्या है ? Dhyan kya hai

ध्यान का स्वरूप तथा प्रकार ध्यान का अर्थ है– तल्लीनता, तन्मयता अपने ध्येय में बिल्कुल खो जाना। अपनी सुध-बुध भुला देना। केवल अध्यात्म पथ का पथिक ही अपने आपको ध्यान या साधना में तल्‍लीन करता हो, ऐसी बात नहीं है, अपितु कोई भी व्यक्ति, जो अपने ध्येय को पाना चाहता है, उसे एक साधक की … Read more ध्यान क्या है ? Dhyan kya hai