पादहस्तासन की विधि क्या है Padahastasana योग के लाभ क्या है?

आज हम पादहस्तासन क्या है लाभ क्या है विधि क्या है हानि क्या है इन सब के बारे में जानेगे और फिर आप इस आसन को करेंगे तो आपको बहुत ही अधिक लाभ इस योगासन से प्राप्त होगा.

पादहस्तासन की विधि क्या है Padahastasana योग के लाभ क्या है?

पादहस्तासन योग क्या होता है?

इस आसन में हम आगे की तरफ कमर से झुकते हुए जाते है और अपने पैर को हाथ लगाते है इसी लिए इसे पादहस्तासन बोलते है और ये आसन खड़े होकर किये जाने वाले असनो में से एक आसन है .

पादहस्तासन की विधि क्या है ?

अब हम जानते है पादहस्तासन को करने की सही विधि बिलकुल आसानी से

  • पहले सीधे खड़े हो जावे,
  • पश्चात श्वांस भरते हुए हाथो को पीछे करके कमर को आगे झुकाते हुए दोनों हाथों से दोनों पैरों के अंगूठे पकड़े।
  • श्वास को बाहर निकाल दें और पेट को अन्दर को संकोच करें अर्थात् पेट को अन्दर को खींचें और शिर को घुटनों पर लगायें,
  • जब श्वास लेने की इच्छा हो तब शनैः शनैः ऊपर को हो जावें।
  1. नीचे को जाते समय रेचक करें अर्थात् सम्पूर्ण श्वास को बाहर निकाल दें,
  2. जब आसन की स्थिति में ठहरें तब बाह्य कुम्भक करें और ऊपर को उठते समय पूरक अर्थात् पूरा श्वास अन्दर भर लेवे ।
  3. इस प्रकार बार-बार करे ।
  4. आसन को करते समय रेचक, बाह्य कुम्भक और पूरक तीनों प्राणायाम हो जाते हैं।
  5. इस बात का विशेष ध्यान रखें कि पांव नितांत सीधे तने हुये रहें, घुटने में से मुड़ें नही।

हाथों तथा पांवों को बदलकर भी इस आसन को करते हैं । दांयां हाथ से बांये पांव का और बांये हाथ से दांयें पांव का अंगूठा पकड़ने से प्रथम प्रकार सिद्ध होता है।

पादहस्तासन की दूसरी विधि –

पहले पांवों को एक दूसरे के स्थान पर रखकर पूर्ववत् पांवों के अंगूठों को पकड़ें।

Padahastasana के Benefits लाभ क्या है

  • हाथ, पांव, कमर आदि के स्नायू भलीभांति खिच जाते हैं
  • अतः इन अंगों की आरोग्यता प्राप्त होती है ।
  • यकृत् और प्लीहा निर्दोष होते हैं।
  • जठराग्नि तीव्र होती है।
  • भूख खूब लगती है।
  • अजीर्णता दूर होती है।
  • पेट और आंतों की शुद्धि होकर मल भी अच्छी प्रकार बाहर होजाता है ।
  • पेट के कृमि नष्ट होजाते हैं।
  • मेद (चर्बी) कम होकर पेट छोटा हो जाता है ।
  • पेट के वायु की निम्नगति होकर वायु बाहर हो जाती है।
  • रीढ़ की हड्डी दृढ़ होती है, कद बढ़ता है,
  • आयु की वृद्धि होती है।

चक्रासन केसे किया जाता है

Padahastasana और सावधानी

जिनको कमर से सम्बन्धित कोई गम्भीर रोग है वो इस आसन को न करें .

1 thought on “पादहस्तासन की विधि क्या है Padahastasana योग के लाभ क्या है?”

  1. अमित भईया मेरा नाम अनुराग है । मैं वेदिक विचारधारा से बहुत प्रभावित हूँ । मैं vishudh मनुस्मृति पढना चाहता हूँ पर विध्यार्थी होने के कारण मैं मनुस्मृति नहीं खरीद पा रहा ।
    आपकी बड़ी कृपा होगी यदि आप उप्लब्ध करा सके ।
    आपकी आज्ञा हो तो मैं अपना पता बताऊँ ।
    एक दिन हमे अवश्य मिलना है।

    Reply

Leave a comment