अश्वगंधा खाने से क्या होता है?

अश्वगंधा आज हम इस लेख के माध्यम से आपको अश्वगंधा के बारे में बताएंगे आखिरकार इनको खाने से क्या होता है क्या लाभ प्राप्त होता है दोनों बातें आप जानेंगे पूरी जानकारी आपको इस लेख के माध्यम से आज मिलेगी।

अश्वगंधा का एक नाम अश्वगंध भी है। अश्व का अर्थ होता है घोड़ा और गंध का अर्थ है एक अलग प्रकार की कोई खुशबू सुगंध आदि जो सांसो के साथ महसूस होती है।

जब आप अश्वगंधा को रगड़ते हैं उसके पत्तों को मस्लेंगे तो उसमें से घोड़े के जैसी हल्की-हल्की गंध आती है इसी कारण इसका नाम अश्वगंधा पड़ा है ।

भारतवर्ष के ऋषि-मुनियों ने जो जड़ी बूटियों का नाम रखा है वह उनके गुणों के आधार पर या उनकी गंध के आधार पर ओर जो उनकी आकृति है उसके आधार पर रखा है।

Ashwagandha एक ताकतवर ओषधी है जब ताकतवर औषधियों का नाम आता है तो अश्वगंधा का नाम जरूर आता है कोई भी ओषधी तैयार की जाती है तो उसमें Ashwagandha लगभग डलती ही है। यह शरीर को बलवान बनाने वाली औषधि है। और धातुओ को पुष्ट करने वाली ओषधी है.

जिनका शरीर कमजोर है और जिनके शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है जिनके शरीर का अच्छी प्रकार से विकास नहीं होता है उनके लिए ashwagandha बहुत ही अच्छी औषधि मानी जाती है।

अश्वगंधा खाने से क्या होता है?

अश्वगंधा के फायदे

मोटापा कम करे

मोटापा कम करने के लिए अश्वगंधा के पत्तों का प्रयोग किया जाता है प्रयोग यह है अश्वगंधा का एक पत्ता लीजिए सुबह खाली पेट उसको मसल कर उसकी गोली सी बना लीजिए और उसको गर्म पानी के साथ में निगल जाइए इसी प्रकार फिर दोपहर को भी ऐसा कीजिए और शाम को भी ऐसा कीजिए 3 दिनों तक आपको यह करना है फिर 15 दिन बाद दोबारा ऐसा ही करना और भोजन आपका सादा हलका होना चाहिए।

चर्बी मोटापाकम करने के लिए व्यायाम प्राणायाम भी करें व्यायाम के लिए आप ये वीडियो देख सकते हैं।

दिमाग की शक्ति को बढ़ाए

अश्वगंधा से दिमाग की शक्ति बढ़ती है काफी मनुष्यों का दिमाग कमजोर होता है तो आप यदि अश्वगंधा का प्रयोग करेंगे तो इससे आपका दिमाग भी बढ़ेगा

खांसी ठीक करे

अश्वगंधा एक ऐसा ओषधी पौधा है जिसके द्वारा खांसी को भी ठीक किया जा सकता है बस करना इतना होता है कि जो अश्वगंधा की जड़ होती है अब उसका काढ़ा बना लीजिए और उसे चाय की तरह पीजिए दो से तिन दिन में खांसी ठीक हो जाती है।

घोड़े जैसी ताकत अश्वगंधा से मिलती है

दुनिया में जो शक्तिशाली इंजन बनते है उनकी ताकत घोड़े की ताकत से नापी जाती है यानी की तुलना की जाती है।

कमजोरी दूर करने ओर ताकत वजन बढ़ाने के लिए अश्वगंधा के पाउडर को आधा चम्मच सुबह शाम दूध में मिलाकर पियो कमजोरी दूर होगी ताकत बढ़ेगी ओर आप धीरे धीरे बलवान बनोगे।

परंतु ध्यान रहे व्यायाम जरूर करें तभी लाभ सही होगा ।

प्रमेह रोग , महिलाओं के प्रदर रोग , धातु रोग, कमजोरी सबको ये अश्वगंधा ठीक करता है।

परंतु ध्यान रहे योग व्यायाम प्राणायाम जरूर करें। तभी आपका 100% स्थाई भला होगा। ओर आप स्वस्थ हो जाएंगे।

दोस्तो कमनेट में अपनी विचार रखिए लेख के बारे में ।

गिलोय के फायदे और नुकसान क्या है

जानिए तुलसी के बड़े आयुर्वेदिक फायदे

Bhringraj Plant Hair Oil Powder Leaves Uses

12 thoughts on “अश्वगंधा खाने से क्या होता है?”

  1. ओ३म् नमस्ते जी 🙏 कुलदीप आर्य जी ने बल बढ़ाने के लिए एक मिश्रण बताया था जिसमें ये 4 पाउडर थे: –
    अश्वगंधा, शतावर, सफेद मूसली, कोच पाउडर
    उन्होंने इसे दूध में डाल कर लेने को कहा था। क्या ऐसा कर सकते हैं ?

    Reply
    • हां ले सकते हो अच्छा है परन्तु मात्रा कम ही रखना अभी गरमियों में सर्दियों में सही है,

      आप केवल आधा चम्मच से थोड़ा कम लेना अभी वो भी रात को

      Reply
      • ठीक है जी। धन्यवाद जी 🙏। जय आर्यवर्त 🚩

        Reply
      • Sir ling mein bachapan ki galtiyon ki bajah see usmein sir dheelapan and veerya ka patla hona ye sab problems create Hui Hain sir ise theek and ling ko pehle jaisa mota lamba and veerya ko gaadha Karne ka tarika bataiye sir

        Reply
      • अमित भईया मेरा नाम अनुराग है और मैंने झांसी का रहने वाला हूँ । मैं वेदिक विचारधारा से बहुत प्रभावित हूँ । मैं vishudh मनुस्मृति पढना चाहता हूँ पर विध्यर्थी होने के कारण मैं मनुस्मृति नहीं खरीद पा रहा ।
        आपकी बड़ी कृपा होगी यदि आप उप्लब्ध करा सके ।
        आपकी आज्ञा हो तो मैं अपना पता बताऊँ ।
        एक दिन हमे अवश्य मिलना है।

        Reply
  2. नमस्ते अमित आर्य जी
    आर्य जी मैं सुबह आसन प्राणायाम और संध्या करता हूं और शाम को व्यायाम यानी सूर्य नमस्कार, दंड ,बैठक करता हूं !
    तो बादाम,मुनक्का आदि सूखे मेवे किस समय खाना अच्छा रहेगा कृपया करके जरूर बताइए

    Reply
  3. Sir kuldeep sir ne sab kuch bataya hai sir ne kaha hai ki bachapan ki galtiyon ki bajah see ling mein nason ka dheelapan aur veerya ka patla hona isse chutkara pane ke liye babul ka gond 1chamach raat ko bigo den aur morning mein khali pet usmein thodi si dhage Bali misri milakar pi Lena hai aur veerya gaadha ho jayega to sir ye bataiye ki isse veerya to gaadha ho jayega par ling ki nasen kaise tight hogi jisse sir ling mein motapan and tightpan Aayega please sir bataiye

    Reply
  4. Sir kuldeep sir ne veerya ko gaadha Karne ka best tarika bataya hai lakin sir ling ki nashon mein dheelapan hai ise dur Karne ka best tarika bataiye sir jisse ki ling pehle jaisa mota and lamba ho Jaye please sir bataiye

    Reply

Leave a comment