अमरूद खाने के 18 चमत्कारिक फायदे – अमरूद का आयुर्वेदिक उपयोग

अमरूद आज दोस्तों हम यहां अमरूद के औषधीय गुणों  बारे में बात करेंगे अमरुद एक खास फल है बहुत ही अच्छा फल है आप इस लेख को पढ़ेंगे तो अमरूद के उपयोग को समझेंगे और भी बहुत सी महत्वपूर्ण जानकारियां आपको अवश्य ही मिल जाएगी और यदि आपको कब्ज रहती है पेट से संबंधित कोई समस्या रहती है तो आप अमरूद के बारे में यह लेख जरूर से जरूर पूरा पढ़ें।

हमें हमारी भारतीय संस्कृति पर बहुत ही ज्यादा गर्व है क्योंकि हमारे ऋषियों ने केवल आयुर्वेदिक औषधियों को ही मनुष्यों के रोग आदि दूर करने के लिए ही प्रयोग नहीं किया बल्कि जो फल आदि हैं उनका भी उपयोग रोग आदि दूर करने में किया है।

भला इतनी महान संस्कृति दुनिया में कहीं और देखने और सुनने को भी मिलेगी आप कल्पना भी नहीं कर सकते कि कहीं और ऐसी संस्कृति आपको देखने को मिलेगी।

इस प्रकृति में जो कुछ रचा है वह सब जो शाकाहारी मनुष्यों के लिए जरूरत की चीजें हैं उनसे आप अपना स्वास्थ्य बेहतर बना सकते हैं अपने रोग को आसानी से दूर कर सकते हैं। 

आज हम बात कर रहे हैं अमरूद की जिसे अलग-अलग भाषाओं में अलग-अलग नामों से जाना जाता है चलिए पहले हम जानते हैं किस भाषा में अमरुद को किस नाम से पुकारा जाता है।

Amrud Meaning
Amrud Meaning In Sanskrit संस्कृत पेरुक, दृढबीजम् , बहुबिज,
Amrud Meaning In Hindi हिंदी,अमरूद, सफरी
Amrud Meaning In Bengali बंगालीचिचारा, गोआर्चाफ्ल,
Amrud Meaning In Marathi मराठी पेरू, जाम
Amrud Meaning In Telugu तेलगु, गोइया
Amrud Meaning In Gujarati गुजरती, जानफल, जमरूद
Amrud Meaning In Latin लैटिन Psidium GUAJAVA
Amrud Meaning In EnglishGuava

अमरूद जिसका सेवन प्रत्येक मनुष्य कर सकता है । त्रिदोष नाशक फल अमरुद को माना गया है आयुर्वेद के ग्रंथों में। बहुत सारे रोगों को केवल आप अमरूद के सेवन से ही दूर कर सकते हैं। 

पुरे लेख की सुचना

पेट के रोग में अमरूद का उपयोग

पेट की बीमारियों के लिए अमरुद को काफी अच्छा फल माना जाता रहा है आप में से काफी व्यक्ति जो इस लेख को पढ़ रहे होंगे वह जानते होंगे कि कैसे वह अमरुद को खाकर अपनी कब्ज आदी की समस्या को दूर कर पाएं हैं। 

अमरूद खाने के 18 चमत्कारिक फायदे - अमरूद का आयुर्वेदिक उपयोग

जब Amrud का मौसम आता है उस समय यदि आप रोज अमरूद फल खाते हैं तो आपकी कब्ज ठीक हो जाती है अपच की समस्या और गैस की समस्या बिल्कुल दूर हो जाती है। आपका भोजन ठीक प्रकार से पचना शुरू हो जाता है।

अमरुद खाने से मन रहेगा खुश

अमरूद को खुशी देने वाला फल भी कहा जाता है जो व्यक्ति Amrud का सेवन करते हैं वह जल्दी ही तनाव में नहीं आते उनको जल्दी ही तनाव नहीं होता है इसीलिए आपको Amrud खाना चाहिए।

हृदय को दिल को मजबूत करता है अमरुद

जिन व्यक्तियों का दिल कमजोर है जल्दी ही उनको घबराहट होने लग जाती है जल्दी ही दिल की धड़कन बढ़ जाती हैं जल्दी ही सांस की गति बढ़ जाती है बेचैनी होने लगती है तो उनके लिए Amrud बहुत ही ज्यादा लाभदायक होता है। आप अमरूद का मुरब्बा भी उपयोग में ले सकते हैं यह बहुत ही अधिक फायदा पहुंचाने वाला है।

अमरुद से कीजिए दिमाग को तेज

दिमाग को ताकत देता है अमरुद यदि आपका दिमाग कमजोर है तो अमरुद आपके मस्तिष्क को ताकत दे सकता है क्योंकि आयुर्वेद में अमरुद को दिमाग को ताकतवर बनाने का फल माना गया है। जिनको यह लगता है कि उनका दिमाग कमजोर है तो उन्हें अमरूद का नियमित रूप से इस्तेमाल करना चाहिए।

जो व्यक्ति दिमागी कार्य करते हैं उन्हें तो अमरुद जरूर खाना चाहिए क्योंकि दिमागी कार्य करने के बाद आपके शरीर को भी थकान होने लगती है और यदि आप Amrud खाते हैं तो आपके दिमाग को काफी अधिक बल मिलता है आप यह प्रयोग खुद करके देख सकते हैं.

हाथ पैरों की जलन का नाश करने वाला होता है अमरूद

आयुर्वेद में अमरूद को दहा नाशक जलन खत्म करने वाला माना गया है काफी व्यक्तियों को हाथ पैरों में जलन महसूस होती है इस हाथ पैरों की जलन को खत्म करने के लिए अनेकों प्रकार की औषधियां व्यक्ति लेते हैं परंतु कुछ भी अच्छा परिणाम नहीं मिलता है। यदि कोई व्यक्ति प्राणायाम आदि करने के साथ-साथ अमरुद को भी नियमित रूप से खाता है तो उसे हाथ पैरों की जलन से निजात मिल जाती है। बल्कि आपके पूरे शरीर की गर्मी ही शांत हो जाती है।

कमजोरी को दूर करने का रामबाण उपाय हैं अमरूद

जिन व्यक्तियों को लगता है कि उनके शरीर में कमजोरी है काफी कमजोरी सी महसूस होती है तो ऐसे व्यक्ति भी यदि इस फल का सेवन करें तो उनकी शारीरिक कमजोरी और मानसिक कमजोरी दोनों ही दूर हो जाती है।

अमरूद खाते समय इन बातो का रखें ध्यान

जब भी किसी मनुष्य को कब्ज होती है या भोजन करने का तरीका बताया जाता है तो उसको कहा जाता है कि भाई तू भोजन को खूब चबा चबाकर खा भोजन को खूब चबा चबाकर खाएगा तो तेरे पेट को ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ेगी और तेरा भोजन आसानी से पच जाएगा फिर तुझे कब्ज और गैस जैसी समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा।

लेकिन हम जब बात करते हैं Amrud की तो अमरुद को तो आप इसे चबा कर खा सकते हैं परंतु अमरूद के जो बीज होते हैं उनको आप कभी भी चबा कर ना खाएं क्योंकि अमरूद के बीजों में वह तत्व होते हैं यदि हम उनको बिना चबाये खा जाते है तो हमारे पेट के लिए बहुत ही ज्यादा अच्छे होते हैं

लेकिन यदि आप Amrud के बीजों को भी बार बार चबाएंगे तो उनकी वह गुणवता खत्म हो जाती है देखिए जब हम अमरूद खाते हैं तो बिज का एक या दो टुकड़ा हो जाता है तो कोई बात नहीं लेकिन उनको ज्यादा मत चबाइए बाकी अमरुद को चबाइए लेकिन बीजों को बार बार मत चबाइए उनको ऐसे ही खा लीजिये फिर आपके पेट में कोई समस्या होगी ही नहीं।

खांसी को दूर भगाएं अमरूद के सेवन से

खांसी को दूर भगाने के लिए आपको एक आधा पका आधा कच्चा अमरुद लेना है उसको बीच में से चीर कर उसमे थोड़ा-सा सेंधा नमक लगा लेना है और फिर इसे आग पर भून लेना है फिर इसे आप खूब चबा चबाकर खा लीजिए। 

भूनकर खाया गया अमरुद से कब्ज की समस्या दूर होती है लीवर में कोई समस्या है तो वह भी ठीक होती है और आपकी भूख भी बढ़ जाती है। और पुराने व्यक्ति आज भी इस प्रयोग को जानते हैं और इस्तेमाल इसका करते हैं।

आप एक प्रयोग और कर सकते हैं यदि आपको पेट में कब्ज आदि की समस्या रहती है तो भोजन करने से पहले आप अमरुद खा लीजिए फिर बाद में भोजन कीजिए इससे आप का किया हुआ भोजन जल्दी ही पच जायेगा और पेट की यह कब्ज की समस्या दूर हो जाएगी।

अमरूद के पत्तों के फायदे

अमरूद के पत्ते बहुत ही अधिक लाभदायक होती हैं औषधीय गुणों से भरपूर होती हैं। 

दांत मसूड़ों के दर्द में अमरूद की पत्तियों का उपयोग

यदि आपको दांतों में मसूड़ों में दर्द है तो आपको बस इतना करना है कि आपको अमरूद की कुछ पत्तियां कूट लेनी है फिर इसमें दो लोंग और थोड़ा-सा सेंधा नमक डालकर इसको पानी में अच्छे से उबाल लें फिर इस पानी के गरारे करें। ऐसा करने से आपके मुंह की दुर्गंध दूर हो जाती है और जो आपके दांतों की और मसूड़ों की समस्या है दर्द आदि कि वह भी ठीक होनी शुरू हो जाती है।

मुंह के छाले में अमरुद पत्तियों का प्रयोग

आपको मुंह में छाले हो गए हो तो आप अनेकों प्रकार के प्रयोग करके देखते हैं लेकिन लाभ नहीं मिलता है तो आप अगली बार एक प्रयोग जरूर करके देखिएगा जब मुंह में छाले पड़ जाए तो Amrud की नर्म पत्तियां हमें लेनी है जो नई नरम पत्तियां ताजी पत्तियां होती है वह हमें लेनी है और उनको चबाना है चबाने के बाद में जो रस है उसको चाहे तो आप निगल जाएं या फिर बाहर फेंक दें ऐसा करने से आपके मुंह के छाले दूर हो जाते हैं ठीक हो जाते हैं।

खांसी में अमरूद के पत्तों का उपयोग

दोस्तों यदि आपको खासी है कफ की समस्या है तो आप एक प्रयोग करके देख सकते हैं अमरूद के पत्तों का काढ़ा बना लें और फिर इसका काढ़े को प्रयोग करें पिए तो आप देखेंगे कि इससे आपको खांसी और कफ में बहुत ही ज्यादा लाभ मिला है।

अपच आदि में अमरूद के पत्तों का उपयोग

यदि आपका भोजन ठीक प्रकार से नहीं पचता है आपको अतिसार है या संग्रहणी है तो इसमें आप कुछ अमरूद की पत्तियां लेते है और थोड़ी सी अमरूद की छाल लीजिए और इसमें थोड़ा सा आधा ग्राम के आसपास सोंठ को डाल लीजिए अब इसका काढ़ा बना लीजिए और इसका इस्तेमाल कीजिए उपयोग कीजिए। इस काढ़े को पीने से आपको अतिसार संग्रहणी अपच आदि की समस्या दूर हो जाती है और लीवर आदि में कोई समस्या है तो उसमें भी काफी अधिक लाभ आपको मिलता है।

अमरूद की पत्तियों से बुखार भी ठीक होता है

दोस्तों आपको जानकर अचम्भा होगा कि अमरुद से बुखार भी ठीक हो सकता है पहले मैं आपको बताता हूं जो वेस्टइंडीज देश है वहां पर अमरुद को बुखार खत्म करने वाला माना जाता है।

अमरुद दहानाशक होता है यानी की गर्मी को शांत करने वाला। 

अमरूद के पत्तों का काढ़ा बनाने का तरीका गिलोय लीजिए Amrud के पत्ते लीजिए और थोड़े से पत्ते तुलसी के ले लीजिए अब इनका काढ़ा बना लीजिए और इसका सेवन कीजिए ऐसा करने से आपका बुखार ठीक हो जाएगा। 

दांत दर्द में अमरूद के पत्तों का उपयोग कैसे करें

अमरुद के कुछ पत्ते लीजिए और उसमें दो लॉन्ग डाल दीजिए अब इसका काढ़ा बना लीजिए और इसको पीजिये ऐसा करने से आपके दांतों का दर्द भी ठीक हो जाएगा। 

यदि आप काढ़ा ना बना पाए तो आप अमरूद की पत्तियों को ऐसे ही चबालें तो उससे भी काफी अधिक लाभ मिल जाता है।

अमरूद पत्तियों की चाय बड़ी ही गुणकारी बनाने का तरीका क्या है

अब मैं आपको अमरुद की चाय के बारे में बताता हूं यह बड़ी गुणकारी होती है और बहुत ही ज्यादा लाभदायक होती है। अभी तक ऊपर जो आपने गुण पढ़े हैं वो सारे गुण इसमें मिल जाते हैं। 

अमरूद की चाय बनाने की विधि कुछ पत्तियां Amrud की ताजी पत्तियों को सुखाकर उसे कूट लीजिए या एसे ही ताज़ी पत्तियां ले लीजिये और  2 पत्तियां तुलसी की लीजिए थोड़ी सी पत्तियां मरवे की लीजिए मुलेठी लीजिए काली मिर्च लीजिए लोग लीजिए और थोड़ी सी अदरक को अपने स्वाद के अनुसार मिला लीजिए अब इसकी चाहिए बनाकर पिलीजिए

अमरूद की जड़ का उपयोग

काफी बच्चों को अतिसार की समस्या से परेशान रहना पड़ता है दस्त लगे रहते हैं तो इसका उपाय यह है 5 ग्राम अमरूद की जड़ लेनी है इसे आप को 400 ग्राम पानी में अच्छे से उबाल लेना जब यह पानी 100 ग्राम के आसपास बच जाए तो इसे छानकर पीना है ऐसा करने से अतिसार और संग्रहणी में काफी ज्यादा फायदा मिलता है ।

पेट के कीड़ों को खत्म करें

यदि आप अमरुद को सेंधा नमक आदि के साथ में खाते हैं तो इससे पेट के कीड़े भी मर जाते हैं।

दोस्तों आपने अमरुद के कितने सारे गुण जाने इतना महत्वपूर्ण लेख आपने पढ़ा आपको यदि यह लेख अच्छा लगा अपने लिए उपयोगी लगा तो आप इस लेख को सोशल मीडिया पर दूसरों के साथ में साझा कीजिए ताकि अधिक से अधिक व्यक्ति ऐसी जानकारी प्राप्त कर सकें और घरेलू तरीकों से ही काफी हद तक अपना इलाज और अपने परिजनों का इलाज कर पाए। और कमेंट में अपने विचार हमें जरूर बताइएगा

ओ३म् नमस्ते जी

4 thoughts on “अमरूद खाने के 18 चमत्कारिक फायदे – अमरूद का आयुर्वेदिक उपयोग”

  1. भैया आपने बहुत ही अच्छी बात बतायी है।
    इसके लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।
    👌👌👌👌
    भैया लगता है मेरे पेट में कीड़े हो गये है क्या इस से पूरी तरह ठीक हो जायेगी??😊😊
    और कोई उपाय है तो जरूर मुझे बताइयेगा भैया।
    धन्यवाद।
    🙏🙏जय श्रीराम🙏🙏🇮🇳🇮🇳
    आप बहुत ही अच्छा काम कर रहे है।👌👌

    Reply

Leave a comment